Bio Data {Hindi)

बाबर लतीफ खान का जन्म दिल्ली में 22 जनवरी को स्वर्गिय उस्ताद लतीफ अहमद खान के घर हुआ, उस्ताद लतीफ अहमद खान दिल्ली घराने के उच्च श्रेणी के तबला नवाज़ थे, बाबर लतीफ  अपने पिता उस्ताद लतीफ खान से अपनी प्रमभिक शीक्षा  4 वर्ष की आयु से ही प्राप्त की,  सौभाग्य से संगीतमय परिवार में हुए बाबर लतीफ को ये कला विरासत में मिली, बाबर लतीफ अपनी मां स्वर्गीय खुरशीद बेगम की तरफ से गाने के दिल्ली घराने से भी संबंध रखते हैं,  दिल्ली घराने के सुप्रसिद्ध गायक उस्ताद चाँद  खान साहब बाबर लतीफ के परनाना थे, बाबर लतीफ ने अपने पिता के बाद अपनी शिक्षा दिल्ली घराने के खलीफा, जो की प्रथम तबला वादक उस्ताद सिधार खा के 6 पीढ़ी के  वंशज थे , दिल्ली घराने के स्वर्गीय खलीफा उस्ताद मुन्नू खान साहिब , उनसे बबर लतीफ़ ने तबला का ज्ञान हासिल करा, बाबर लतीफ का सौभाग्य ऐसी महान हस्ती से सीखना का सौभाग्य प्राप्त हुआ,




बाबर लतीफ देश विदेश में अपनी प्रस्तुति दे चुके हैं, कहीं स्वतंत्र तबला वादन हो या तबला संगत कई बड़ी हस्तियों के साथ अपना तबला संगत भी निभा चुके हैं, जिनमे कुछ नाम हैं ,

पंडित राजन मिश्रा जी पंडित साजन मिश्रा जी, उस्ताद इक़बाल अहमद खान,पंडित मधुप मुदगल, उस्ताद शाहीद परवेज़, उस्ताद निशात खा, उस्ताद शुजात खान, उस्ताद सईद जफर खां , श्रीमती नंदिनी सिंग जी,पंडित बरुन कुमार जी, उस्ताद दाऊद खान सदोजाई,पांडित  उपेंद्र भट्ट ,उस्ताद अयान अली बनंगश, पंडित शुभेन्द्र राओ,पंडित राम मोहन महाराज,पंडित जयतीर्थ मुवन्डी उस्ताद अजगर हूसेन,पंडित अजय प्रसन्ना ,पंडित अभय रुस्तम सपोरी, विदुषी सुनंदा शर्मा, विदुषी सुनयना हज़ारी लाल, पंडित जयंत कस्तूर, पंडित अभिमन्यु लाल एवं श्रीमती विधा लाल, श्री पारसनाथ, और आर्ट ऑफ लिविंग अलबम के लिए ग्रामी अवार्डी  पंडित विष्वामोहन भट्ट जी के साथ एक रिकॉर्डिंग भी दर्ज कराई,




बाबर लतीफ का बाज अपने घराने के बाज की सुंदरता को दर्शाता है, आज के  समय में बाबर लतीफ अपनी श्रेनी के कलाकारों में बहुत प्रचलित हैं ,गायन हो या तंत्रकार या कथक या सेमी क्लासिकल सभी विधाओं में बाबर लतीफ बखूबी से  संगत करने की सक्षम  हैं,

बाबर लतीफ आकाशवाणी से (A ) ग्रेडेड आर्टिस्ट हैं, आईसीसीआर से इम्पैनलेड आर्टिस्ट हैं,

बाबर लतीफ को कई संगीत सम्मान से भी नवाज़ा जा चूका है,

  1. Rides and Riters society of India     (Taal Ratan Award)
  2. Ghandi Hindustani Sahitya Sabha    (Sangat Sadhak Samman)
  3. KalaVihar Sangeet Samiti        (Ustad Latif Ahmeda Khan Samriti Samman)
  4. Navodit Kalakar Sangeet Sabha   (Taal Shree Award)
  5. Swarveni Music academy  ( swarveni ratan samman)
  6. Bharat Vandan samman      (Swar Sadhnaa Kendra)(




देश विदेशो में भी बहुत प्रस्तुतियां दे चुके हैं ,

जिनमे कुछ हैं ,

लंदन ,अमेरिका ,ब्राज़ील ,कनाडा,उज़्बेकिस्तान,और कई अन्य देशो में प्रस्तुति दे चुके हैं,


बाबर लतीफ़ ऐसे ही अपने घराने की सेवा करते हुए  घराने के संगीत  को आगे लेकर चल रहें हैं,


धन्यवाद् 


No comments:

Post a Comment